हॉस्टल से चोरी करने वाले दो चोर गिरफ्तार-glibs.in
फाइल फोटो

जांजगीर-चांपा 5 दिसम्बर chhattisgarh.co। अजाक थाना में पदस्थ प्रधान आरक्षक के घर हुई चोरी के बाद स्वजनों द्वारा 1 लाख 13 हजार रूपये नगद सहित लगभग चार लाख रूपये का सामान चोरी होने आरोप लगाया जा रहा है, जबकि कोतवाली पुलिस द्वारा महज 50 हजार रूपये नगद सहित 2 लाख रूपये की चोरी दर्शाकर कार्रवाई की गई है। ऐसे में पुलिस की कार्रवाई को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। जब पुलिस अपने ही विभाग के कर्मचारी के यहां हुई वारदात पर इस तरह कार्रवाई कर रही है तो आम लोगों के यहां होने वाली चोरी और अन्य वारदातों में किस तरह कार्रवाई करती होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। हालांकि कोतवाली पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए चोरों को गिफ्तार कर 1 लाख 15 हजार रूपये का सामान जब्त किया है।


पुलिस विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा लगातार थाना प्रभारियों की बैठकर लेकर थाना पहुंचे पीडि़तों के साथ बेहतर व्यवहार करने व उनकी समस्याओं को शीघ्र निराकरण करने का निर्देश दिया जाता है, मगर जिले के थानों में पदस्थ अधिकारी-कर्मचारियों के मनमाने रवैये के चलते थाना पहुंचे पीडि़तों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिले में अधिकांश थाना क्षेत्र में जुआ, गांजा, शराब सहित अन्य आरोपियों से अवैध वसूली की शिकायत आम है। वहीं दूसरी ओर कोतवाली पुलिस द्वारा अपने ही स्टाफ के घर हुई चोरी के मामले में कम रकम दर्शाकर चोर को गिरफ्तार कर कार्रवाई की औपचारिकता निभा दी गई। जानकारी के अनुसार अजाक थाना में पदस्थ प्रधान आरक्षक के घर 1 दिसम्बर को चोरों ने धावा बोलकर लाखों रूपये का सामान पार कर दिया। वारदात के बाद कोतवाली पुलिस द्वारा तत्परता दिखाते हुए चोरों को गिरफ्तार भी किया और उनसे केवल इलेक्ट्रानिक सामान, कुछ चांदी के जेवर व डेढ़ हजार रूपये नगद जब्त कार्रवाई की औपचारिकता निभा दी गई, जबकि स्वजनों का आरोप है कि पुलिस द्वारा कार्रवाई की लापरवाही बरती गई है। इस संबंध में पीडि़ता माधुरी श्रीवास का कहना है

वह अपने पति व बच्चों के साथ रायगढ़ गई थी। इसी दौरान अज्ञात चोर उनके सूने मकान में पहुंचा और ताला तोडक़र कमरे की आलमारी में रखे नगद, सोने चांदी के जेवर सहित अन्य सामान पार कर दिया। इसकी जानकारी मिलने वह घर वापस लौटी और आलमारी में रखे सामानों की जांच की। जांच के दौरान आलमारी में 45 हजार रूपये नगद व सोने का मंगलसूत्र पन्नी की पोटली में बंधा था। इसी तरह आलमारी में 500-500 के 30 हजार रूपये के नोट, 200 रूपये का एक बंडल, 100 रूपये नये नोट का एक बंडल, 50 रूपये के नोट का बंडल, 20 व 10 रूपये के नये नोट का बंडल रखा था। आलमारी में कुल 1 लाख 13 हजार रूपये नगद रखा था।


जबकि पुलिस द्वारा चोरी की रकम 50 हजार बताई जा रही है। इसी तरह आलमारी में लगभग डेढ़ तोला सोने के जेवर सहित चांदी के जेवरों को भी चोरों ने पार कर दिया। इस तरह घर से कुल साढ़े तीन से चार लाख का सामान चोरों ने पार कर दिया, जबकि पुलिस द्वारा केवल 50 हजार रूपये नगद सहित 2 लाख रूपये ही बताया जा रहा है। उनका कहा है कि जेवरों के साले बिल रूपयों के साथ पन्नी की पोटली में सुरक्षित रखा गया था, जिसे चोर पोटली के साथ भी ले गए। हालांकि पुलिस द्वारा चोरों शीघ्र ही गिरफ्तार किया गया है, मगर उनके कब्जे से केवल चिल्हर सहित 1500 रूपये नगद, 2 एलईडी टीवी व कुछ चांदी के जेवरों सहित 1 लाख 15 हजार जब्ती दर्शाया जा रहा है। इससे पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान उठने लगा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here