जनदर्शन, जनशिकायत, जनचौपाल और समय सीमा के लंबित प्रकरणों के निराकरण हेतु अधिकारी स्वयं पहल करें-कलेक्टर श्री साहू

पेयजल आपूर्ति हेतु कार्ययोजना बनाकर काम करने के निर्देश

नारायणपुर 23 फरवरी 2021- कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक हुई। बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि पोर्टल पर जनदर्शन, जनशिकायत, जनचौपाल और समय सीमा के लंबित प्रकरणों के निराकरण हेतु अधिकारी स्वयं पहल करें, ताकि शासन को इसकी जानकारी भेजी जा सके। उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों से समय सीमा के लंबित प्रकरणों की वन-टू-वन जानकारी प्राप्त की और निराकरण के संबंध में निर्देश दिये।

कलेक्टर श्री साहू ने कहा कि आगामी दिनों में गर्मी का मौसम शुरू हो जायेगा, इसके लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और संबधित अन्य विभाग के अधिकारी जिले के ऐसे अंदरूनी क्षेत्र जहां पेयजल की समस्या होती है। उन क्षेत्रों में पेयजल की आपूर्ति हेतु हैंडपपों की मरम्मत और नवीन बोर खनन हेतु कार्ययोजना बनाकर काम करें, ताकि इन क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जा सके। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री राहुल देव, एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग, संयुक्त कलेक्टर सुश्री निधी साहू, डिप्टी कलेक्टर सर्व श्री वैभव क्षेत्रज्ञ, गौरी शंकर नाग, धनराज मरकाम, फागेश सिन्हा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए.आर.गोटा के अलावा अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री साहू ने कहा कि प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी आगामी माह की 10 तारीख को जिले में ऐतिहासिक मावली मेला का आयोजन होने जा रह है। इसके लिए मेला स्थल के आसपास साफ-सफाई, बिजली, पेयजल, शौचालय सहित दुकानों हेतु आरक्षित स्थल आदि की तैयारी कर ली जाये। राज्य शासन की महत्वाकांक्षी नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी योजना के तहत पशु धन के संरक्षण और संर्वधन के लिए जिले में गौठानों की स्वीकृति दी गई है।

कलेक्टर श्री साहू ने जिले में पूर्ण हुए गौठान, निर्माण कार्य प्रारम्भ एवं अप्रारंभ गौठानो की जानकारी ली तथा अपूर्ण गौठानो को तत्काल पूरा करने के निर्देश दिए। आकांक्षी जिलों के लिए निर्धारित सूचकांकों में सुधार के लिए स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, रोजगार, बैंकिंग, मूलभूत अधोसंरचना, कौशल विकास आदि क्षेत्रों में तेजी के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। बैठक में उन्होने विभिन्न मदों से स्वीकृत, निर्मित और अपूर्ण निर्माण कार्याे के संबंध में जानकारी ली की और अपूर्ण निर्माण कार्याे को यथा शीघ्र पूरा करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। इसी उन्होंने अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्याे में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखे।

समय सीमा की बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास, शिक्षा, बिजली, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, आदिवासी विकास, खाद्य, राजस्व, भू-अभिलेख, पशुपालन आदि विभागों के समय सीमा के प्रकरणों की बारी-बारी से जानकारी ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here